Posts

Showing posts from April, 2022

After reading the story Bholi you find her to be a 'Role Model' for village girls, discuss

Image
Bholi : A Role Model for Village girls  Q. After reading the story Bholi you find her to be a 'Role Model' for village girls, discuss.  'Or' Q. How Bholi became a master piece of her teacher?        'Or' Q. How did Bholi become a Role Model for Village girls?       Answer- Bholi was a petty child. She had suffered head injury and an attack of small-pox at a very young age. These two misfortunes made Bholi's life very difficult as well as different from other children.  Being a girl itself posed quite a challange before Bholi, as girls were not allowed to sent schools to study. Above this, her mental condition and pock marks driven face added further to her challanges. Even she was neglected and looked down upon by her own parents. As she stammered while speaking, other students mimicked her and made fun of her ugly face.  Sr. Class-10 Chapter Bholi {Click below 👇} 1 Character Sketch of Bholi

बिशम्बर (Bishambar) का चरित्र स्केच हिन्दी में (In Hindi)

Image
Character Sketch of Bishambar in Hindi  🏛️परिचय : बिशम्बर:- बिशम्बर, कक्षा 10 की अंग्रेजी पाठ्यपुस्तक की कहानी 'भोली' में एक पात्र है। वह एक अधेड़ उम्र का,  लंगड़ा कर चलने वाला  अमीर आदमी था। उसकी उम्र लगभग भोली के पिता के समान ही थी। उसके अपनी पहली पत्नी से हुए बच्चे बड़े हो चुके थे। लेकिन अब वह भोली से शादी करने को तैयार था। भोली के माता-पिता उसके साथ भोली से शादी करने के लिए तैयार हो गए, क्योंकि भोली के पूरे शरीर पर चेचक के निशान थे। उन्होंने बिशम्बर को भोली के चहरे तथा रूप के बारे में नहीं बताया। To read this article in English follow this link:- character Sketch of Bishambar in English. ✒️Character Sketch of Bishambar in Hindi:- बिशम्बर एक धनी दुकानदार था और उसका एक बड़ा सा घर था। चूंकि वह भोली से काफी बड़ा था, इसलिए वह बिना किसी दहेज के भोली से शादी करने के लिए तैयार हो गया। लेकिन जब शादी के बीच में उसने भोली का चेहरा देखा तो वह पांच हजार रुपये दहेज की मांग करने लगा। भोली के पिता ने उससे दहेज की मांग न करने की भीख मांगी। यहां तक ​​कि उन्होंने अपनी पगड़ी भी बिश

Character Sketch of Ramlal (Bholi's father) & Bholi's Mother

Image
 Character Sketch of Ramlal (Bholi's father) & Bholi's mother Que. Discuss the character sketch of Ramlal (Bholi's Father). Answer: Ramlal was Bholi's father.  He was the numberdar in the village and was quite prosperous. He was traditional in his outlook. Ramlal had seven children; four were girls and three sons. He has sent his son to the city for education. However, he provided no education to his daughters.  Ramlal had very traditional thinking. He married off his quite early. However, he was worried about Bholi, as she was neither good-looking nor had natural mental condition. Ramlal did not want Bholi to send to the school. Still, he had to send Bholi to school as he was a representative of government to his village. Sending his girls to school would make a precedence. However, He sent Bholi to school as no one will marry her anyways because of her pox marked face. Related Links (Class-10) Bholi Chapter all questions Lencho all Questions Bholi's Te

मटिल्डा (Matilda) का चरित्र स्केच/ चित्रण हिन्दी में (In Hindi)

Image
मटिल्डा (Matilda) ka चरित्र स्केच/ चित्रण (In Hindi) Introduction: मटिल्डा (Matilda):- मटिल्डा 'द नेकलेस' कहानी में एक महिला पात्र है। वह एक गरीब महिला है और उसकी शादी एक गरीब क्लर्क से हुई है। कहानी मटिल्डा की महत्वाकांक्षा के बारे में है कि वह भी अमीरो की तरह दिखे वा जिंदगी जिए। हालांकि उसकी यह कामना  उसे तथा उसके पति को  अत्यधिक कठिनाइयों वा  पीड़ा की ओर ले जाती है। यह कहानी एक फ्रांसीसी लेखक गाय डी मौपासेंट द्वारा लिखी गई है। इसे कक्षा 10 की अंग्रेजी पाठ्यपुस्तक के फुटप्रिंट के पाठ्यक्रम में शामिल किया गया है। To Read this article in English follow this link:- Character Sketch of Matilda in English. ✒️Matilda का चरित्र स्केच हिन्दी में:- मटिल्डा एक जवान वा सुंदर महिला थी। उनका जन्म क्लर्क के परिवार में हुआ था। परिवार विनम्र लेकिन गरीब था। इसके अलावा, उसकी शादी एक गरीब क्लर्क से हुई थी। उसने अपने माता-पिता  और अपने पति के घर दोनों जगह  गरीबी का सामना किया। वह अपनी क्षुद्र सामाजिक और आर्थिक स्थिति के बारे में दुखी महसूस करती थी। वह विलासिता से भरा एक समृद्ध जी

Character Sketch of Bishambar (Class-10)

Image
  Character Sketch of Bishambar (Class-10) Introduction : Bishamber :- Bishamaber is a character in the story 'Bholi' of the English textbook of class-10. He was a middle aged, lame and rich man. He was nearly the same age as Bholi’s father. He had grown up childs from his first wife. But now he was willing to marry Bholi. Bholi's parents agreed to marry Bholi with him, as Bholi had marks of pox all over her body. They did not tell Bishamber about Bholi's appearance. इस आर्टिकल को हिन्दी में पढ़ने के लिए यहां जाएं:- Character Sketch of Bishambar in Hindi (बिशम्बर का हिन्दी मे चरित्र स्केच।) Character Sketch of Bishambar:- Bishamber was wealthy shopkeeper and had a big house. As he was quite elder to Bholi, he agreed to marry Bholi without any dowry. But when, in the middle of marriage, he saw Bholi's face, he started demanding dowry of rupees five thousands. Bholi's father begged him not to demand dowry. Even he put his turban on Bishamber's feet. But Bis

भोली की शिक्षिका (teacher) का चरित्र स्केच हिन्दी में (in Hindi)

Image
भोली की शिक्षिका (teacher) का चरित्र स्केच हिन्दी में (in Hindi) 📃Introduction: भोली और टीचर:- भोली कक्षा 10 की अंग्रेजी पाठ्यपुस्तक का एक पात्र है। वह एक बहुत ही मासूम और अंतर्मुखी बच्ची है, इसलिए उसका नाम भोली पड़ा। दो साल की उम्र के अंदर ही उनके सिर में चोट लग गई और उसे चेचक का अटैक आ गया। इन दोनों घटनाओं ने भोली के आने वाले जीवन का भाग्य निर्धारित किया। वह सुंदर नहीं थी क्योंकि उसके पूरे शरीर में चेचक के निशान थे। न ही वह बुद्धिमान थी क्योंकि वह सिर की चोट से गुज़री थी जिससे उसका मस्तिष्क थोड़ा क्षतिग्रस्त हो गया था। इसलिए, उसके माता-पिता उसकी शादी को लेकर चिंतित थे। यहां तक कि, वे उसकी उसके पिता रामलाल की उम्र के एक बुजुर्ग व्यक्ति से उसकी शादी करने के लिए आसानी से सहमत हो गए। लेकिन यहाँ भाग्य ने करवट बदली, क्योंकि भोली अब शिक्षित है, जो सिर्फ भोली की शिक्षक के कारण ही संभव हो पाया है। इस प्रकार भोली की शिक्षका भोली को एक मासूम बच्ची से एक मुखर शिक्षित व्यक्ति में बदलने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। आइए भोली की शिक्षका के चरित्र स्केच पर अधिक विस्तार से चर्चा करें। To Re

MA English Questions Paper (American Literature) 3rd semester

Image
Credit:pxhere.com   MA SEM III EXAM 2021  DEGREE COLLEGE SATNA SECTION-A Objective Type Questions 2×5=10 Marks Q1. Choose the correct option :- 1) Besides beings an Essayist, Emerson was also a :- a) Satirist          b) poet  c) Novelist.        d) Dramatist 2) Which one of the following is not part of Trinity of symbols in the poem 'when Lilacs last in the Dooryard Bloom'd' ? a) Lilacs             b) Stare  c) Song bird      d) Rose 3) The line "I took the one less travelled by, and that has made all the difference" occures in :- a) Stopping by wood on a snowy evening    b) After apple picking  c) Birches                            d) The road not taken 4) Who called Yank , " the Filthy beast"? a) Second Engineer          b) Aunt of Mildred Douglas c) Mildred Douglas          d) Long 5) What is the name of the town where Huck, Jim and Tom live at the novel's opening ? a) Cairo               b) St. Louis  c) Pikesville       d) St. Petersburg SEC

Thoreau: सिविल डिस-ओबेडिएंस (Civil Disobedience) की summary Hindi में

Image
 Civil Disobedience Summary (In Hindi) Introduction : Henry David Thoreau : हेनरी डेविड थोरो, एक प्रमुख पारलौकिकवादी, एक अमेरिकी विचारक, कवि, दार्शनिक और एक निबंधकार थे। वह गुलामी (slavery) और सामाजिक संस्थानों पर अपने हमलों के लिए सबसे ज्यादा जाने जाते हैं। वह एक अन्य अमेरिकी ट्रान्सेंडेंटलिस्ट राल्फ वाल्डो इमर्सन से काफी प्रभावित थे। इमर्सन के माध्यम से ही वो पारलौकिकता के विचार से परिचित हुए। Thoreau के कार्यों में ट्रान्सेंडैंटलिज़्म केंद्रीय दर्शन है। उन्होंने कई व्याख्यान दिए जिनमेे उन्होंने  लोगों के अधिकारों और उनकी इच्छाओं पर सरकार के अन्यायपूर्ण अतिक्रमण पर हमला किया। थोरो अपने व्याख्यान के लिए सबसे ज्यादा जाने जाते हैं, जिसे बाद में एक निबंध सविनय अवज्ञा के रूप में प्रकाशित किया गया था। उनकी एक अन्य प्रसिद्ध कृति वाल्डेन   नामक पुस्तक है। इमर्सन के अलावा, उन पर  भारतीय दर्शन, पिंडर, अरस्तू, होमर, डार्विन आदि का भी प्रभाव था। थोरो के दर्शन का अमेरिका और विदेश दोनों में बड़े पैमाने पर प्रभाव पड़ा। महात्मा गांधी, लियो टॉल्स्टॉय और मार्टिन लूथर किंग जूनियर उनके सविनय अवज्ञ

Thoreau : Civil Disobedience (Summary) essay

Image
 Civil Disobedience Summary : Thoreau Que. Write a summary of Thoreau's essay Civil Disobedience. Or Que. Bring out Thoreau's views on government. Introduction : Henry David Thoreau :- Henry David Thoreau, a leading transcendentalist, was an American thinker, poet, philosopher and an essayist. He is best known for his attacks on slavery and the American social institutions. He was tremendously influenced by Ralf Waldo Emerson, another American transcendentalist. Through Emerson, he was introduced to the idea of transcendentalism. Henry David Thoreau Profile Born July 12, 1817, US Died May 06, 1862, US School Transcendentalism Interest Ethics, poetry, religion, politics, biology, philosophy, history Essays Civil disobedience, Slavery in Massachusetts, life without principles Notable Ideas Abolitionism, tax resistance, development criticism, civil disobedience, conscientious objection, direct action, environmentalism